अल्पसंख्यक मंत्रालय भारत सरकार के प्रतिनिधि से एदार ए शरीया झारखंड ने मिलकर रखी मांग, बिरसा मुंडा एयरपोर्ट रांची को हज इम्बारकेशन पॉइंट बहाल किया जाए

 


अल्पसंख्यक मंत्रालय भारत सरकार के प्रतिनिधि से एदार ए शरीया झारखंड ने मिलकर रखी मांग, बिरसा मुंडा एयरपोर्ट रांची को हज इम्बारकेशन पॉइंट बहाल किया जाए. 

रांची :- एदार ए शरीया झारखंड का एक उच्च स्तरीय प्रतिनिधि मंडल ख्वाजा गरीब नवाज कमिटी अजमेर सह प्रतिनिधि अल्पसंख्यक मंत्रालय भारत सरकार माननीय सैयद बाबर अशरफ से जामीया नगर कडरु रांची में मिल कर हज व हज यात्रियों की समस्या व समाधान के सम्बन्ध में 7 सुत्री मांगों पर सम्मिलित मेमोरणडम सौंपा, प्रतिनिधि मंडल में एदार ए शरीया झारखंड के नाजिमे आला मौलाना कुतुबुद्दीन रिजवी, प्रोफेसर डॉक्टर एम पी हसम, सैयद फसीह अहमद चिश्ती, मौलाना डॉक्टर ताजुद्दीन रजवी, मौलाना गुलाम फारुक मिस्बाही, शहर काजी मौलाना मसूद फरीदी,मौलाना आफताब कादरी, अकीलुर रहमान, मो इस्लाम, मौलाना नेजामुद्दीन मिस्बाही, हाजी सईद कौसर अस्दकी, मो शमसुह होदा, मौलाना सैयद नौशाद बरकाती, कारी नुर आलम आदी शामिल थे। 
Vedio 

        एदार ए शरीया झारखंड ने केंद्रीय अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री श्रीती स्मृति ईरानी के नाम केंद्रीय अल्पसंख्यक मंत्रालय भारत सरकार के नुमाइंदा सैयद बाबर अशरफ को दिए गए मेमोरंडम में कहा है कि  झारखंड राज्य समेत पुरे भारत से महीला-पुरुश व बच्चे हज यात्रा पर सउदिया अरबीया जाते हैं जिस के लिए केंद्रीय अल्पसंख्यक मंत्रालय के अधीन केंद्रीय हज कमेटी मुम्बई कार्यरत है, राज्य स्तर पर स्टेट हज कमिटी भी गठित है। 
हज यात्री भारत सरकार द्वारा जारी सभी दिशा-निर्देशों का पालन करते हैं। हज व हज यात्रियों से सम्बंधित जिन समस्याओं को एदारा ने रखा उन में 
 झारखंड राज्य के हज यात्रियों की उडान हेतु रांची बिरसा मुंडा एयर पोर्ट को फिर से इम्बारकेशन पॉइंट बनाए जाने, हज यात्रा काफी महंगी होती जा रही है इसे शिथिल करते हुवे उचित किराया निर्धारित करने,  हज यात्रा व हज के दौरान जरुरत के सामान के सम्बन्ध में हज गाइड में निर्देशित है इन वस्तुओं को चिंहित एजेंसियों से ही लेने को बाध्य ना किए जाने,  
हज यात्रियों की सुविधा के लिए स्टेट व केंद्रीय हज कमीटी खादिमुल हुज्जाज की सेवा प्रदान करती है परंतु सउदिया में सम्बंधित स्टेट के हज यात्रियों के साथ कार्य पर ना लगा कर अन्य स्टेट या अन्य देश के हज यात्रियों की सेवा में लगाया जाता है जिस से हज यात्रियों को काफी कठिनाई होती है इस कठीनाई का निदान करने, सदस्य के रुप में केंद्रीय हज कमेटी में हर स्टेट के प्रतिनिधुत्व को सुनिश्चित किए जाने, आज तक झारखंड से एक भी प्रतिनिधि को केंद्रीय हज कमिटी में नहीं लिया गया, मुस्लिम धार्मिक व्यस्था के अनुसार किसी भी मुस्लिम महिला को अपने महरम के साथ ही हज पर जाने की हिदायत है, हालिया दिनों में केंद्रीय सरकार ने बगैर महरम के भी मुस्लिम महिला को हज पर जाने की बात कही है इस पर पुण्र्: विचार करने, हज को दौरान मक्का शरीफ और मदीना शरीफ में भारती हज यात्रियों को वही सुख-सुविधा मिले जो अन्य देशों के यात्रीयों को मिलती है। 
    एदार ए शरीया झारखंड के प्रतिनिधि मंडल ने आशा व्यक्त कि है कि वर्णित समस्याओं का समाधान जरुर किया जाएगा। प्रतिनिधि मंडल से सैयद बाबर अशरफ ने कहा की 2023 से झारखंड के हज यात्रीयों के जाने की व्यवस्था रांची ही से किया जाएगा और बिरसा मुंडा एयरपोर्ट रांची को फीर से इम्बारकेशन पॉइंट बनाया जाएगा इस सम्बन्ध में केंद्रीय माननीय मंत्री महोदया श्रीमती स्मृति ईरानी के पास एक ठोस रिपोर्ट रखी जाएगी। 
कुतुबुद्दीन रिजवी
6202583475

Post a Comment

0 Comments

Hopewell Hospital
Shah Residency IMG
S.R Enterprises IMG
Safe Aqua Care Pvt Ltd Image